अंटार्कटिका के सफर की तैयारी भाग 2

अगर आपका फाम दूसरी श्रेणी का है तो आप मैत्री फो ‘श्रिमाचेर’ पहाडी पर पेशा चूमकर काम करेंगे । आपकी ऊपर की लिस्ट कै अलावा एक जोडा गरम ‘एनर्स’ थानी भीतरी वस्त्र खरीद लेने चाहिए. जो भारत में आसानी सै मिलते ई…सर्फद्ग रंग कै, वदन से चिपकै हुए पत्मामेड्डे-कमीज की तरह । एक जोडा ‘पोलर श्चर्स’ आपकी जहाज पर

मिल जाएँगे। यह अतिरिक्त साधारण जोडा साथ होने से बेहतर होगा । दो-तीन जोडी सामान्य मोजे भी साथ रख लें, ये पोलर मोजों कै भीतर पहनने से बहुत आराम देते हैं । इसर्क अलावा वैसलीन की एक बडो शीशी साथ रने आइए, यह तीखी धूप और घातक ‘यूबी’ किरणों, यानी धूप कै पराबैंगनी विकिरण, से आपको बचाए रखेगी ।

अब आएँ तीसरी श्रेणी पर, आइसशैल्फ पर काम करना । यह ” इलाका गरमी को ऋतु में भी ‘-10 या -15 डिग्री सेल्सियस तक ठंडा रहता है । यहाँ सर्दी सेबचाव कै लिए पर्याप्त साधन होने चाहिए। ऊपर. की दोनों सूचियों कै अलावा आपकै पास अंदर पहने जानेवाले गरमं ट्वेनर्स’ र्क दो जोडे और होने चाहिए, क्योंकि आपर्क पास कपडे धोने क्री सुविधा भी नहीं होगी । भोजों कै भी कुल पॉच-प्तात जोडे रखना बेहत्तर है, जो पोलर मोजों कै भीतर पहनने से आपकै पैरों क्रो ठंड से बचाए रखेंगे । आप लगातार मोटे ‘मकलक’ यानी वल्बेलवारने पोलर जूते ही पहने रहेंगे तो सामान्य जूतों क्री कोई आवश्यकता नहीं होगी । पोलर कपडों कै अंदर एक ‘हैकसूट’ पहने रहने ” से बहूत सुविधा होती है, रात को मोटे पोलर कपडे उतारकर सीधे स्लीपिंग बैग में घुसा जा सकता है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *